Select Page

Home Lyrics Aaina
Aaina

Aaina

906 VIEWS
Aaina Lyrics | Aaina Lyrics in Hindi | AFKAP Aaina Lyrics

Aaina (आईना) is a rap song by AFKAP, it is a free verse about introspection. The song is inspired by the chaotic nature of online activism. AFKAP’s Aaina Lyrics in Hindi and in the romanized form are provided below.

Listen to the complete track on Spotify

Yeah, yeah, yeah, yeah

हाँ, १०० शब्दों की एक बात
सोचे बिना सोया नहीं एक रात
लिखे हुए हो गया है एक साल
राज़ महफ़ूज़ मेरे छे-सात
दोस्तों के पास, क्योंकि भेड़ चाल
में चलने वाले करें इतना भेद-भाव
शैतान ने बोला मुझे, “सेब खा”
भगवान ने बोला, “माथा टेक आ”

समाज से परे इन राहों में यूँ ही खेलते हैं
घिस लेंगें ऐड़ियाँ, पर घुटने ना टेकने
अब देखते ही देखते यूँ बीत गए साल
हाँ, मैं हूँ परेशान

तभी हाथों में ये Juul है ना
माँ को पता नहीं, लड़का रहता दूर है ना
सज़ा पता नहीं, कठघरा क़बूल है ना
सुधर जाऊँगा जो हो गई ये भूल है ना
धूल है ना आँखों में अभी

Yeah, था बचपन से यक़ीं
बोला-बोला थक गया, पर ये समझते नहीं हैं
पर पिताजी ने भी बोला, “ऐसे बकते नहीं हैं
क्यूँ गरजने वाले बादल यूँ बरसते नहीं हैं?”
झूठी कला वाले दिलों में यूँ बसते नहीं हैं
जब से game बड़ा हुआ ये लोग हँसते नहीं हैं
अभी (haha!) समझते नहीं हैं
जब से game बड़ा हुआ लिखने लग गए सभी हैं

अभी तो, अभी तो दोस्ती बोझ है
सब जताने को यूँ खुश हैं, ऐसे phone पे क्यूँ हैं?
“तू तो भूल गया मुझे,” बोलते क्यूँ हैं?
दोगले क्यूँ हैं? ये खोखले क्यूँ हैं?
ये trip जा के trip मारने के जोश में क्यूँ हैं?

तो अभी समझ नहीं आता (अभी समझ नहीं आता)
उमर मेरी हो गई है २२ (उमर २२ मेरी)
ख़याल मेरे बन रहे लिखाई (बन रहे लिखावट)
और IIT बैठा मेरा दोस्त (IIT बैठा मेरा दोस्त)
IIIT बैठा मेरा भाई (IIIT बैठा मेरा भाई)
Number तो मेरे भी 95 (95)
पर घंटा उस से फ़रक़ पड़ा, भाई (फ़रक़ पड़ा, भाई)

और तब ICU में था मेरा दोस्त (और तब ICU…)
मैं ख़फ़ा था, मैं किया ना reply (ना reply)
वो गया बिना बोले goodbye (ना goodbye)
अकेलेपन से अब भी लगे डर
नहीं चाह के भी ख़याल खटखटाएँ मेरे

Uh, हाँ, तू लाखों में एक
पर कोई बात नहीं करे अभी आँखों में देख के
क्यूँ छुपाने को तो बातें सबके पास ही अनेक हैं?
और जो दोस्त तेरे जलें तो तू हाथों को सेंक ले
मेरी बात नहीं जमे तो जज़्बातों को देख ले

अभी झूम गए इनकी बातों को लेके
अभी घूम गए इनके वादे लपेट के
और जो ख़ून को बहाने से परहेज़ करें
Right के लिए fight करना उन्हीं को
(Right के लिए fight करना उन्हीं को)

और सुधरने का time ही नहीं है
सभी काँच लेके घूमें, यहाँ आईने नहीं हैं
हाथ जोड़ने या खोलने के मायने नहीं हैं
बाहर क़ायदे नहीं हैं

झूम गए इनकी बातों को देख के
अभी घूम गए इनके वादे लपेट के
और जो ख़ून को बहाने से परहेज़ करें

Yeah, yeah, yeah, yeah

Haan, 100 shabdon ki ek baat
Soche bina soya nahi ek raat
Likhe huye ho gaya hai ek saal
Raaz mehfooz mere chhe-saat
Doston ke paas, kyonki bhed chaal
Mein chalne waale karein itna bhed-bhaav
Shaitaan ne bola mujhe, “Seb kha”
Bhagwan ne bola, “Maatha tek aa”

Samaaj se pare in raahon mein yoon hi khelte hain
Ghis lenge ediyaan, par ghutne na tekne
Ab dekhte hi dekhte yoon beet gaye saal
Haan, main hoon pareshaan

Tabhi haathon mein yeh Juul hai na
Maa ko pata nahi, ladka rehta door hai na
Saza pata nahi, kathghara qabool hai na
Sudhar jaaunga jo ho gayi yeh bhool hai na
Dhool hai na aankhon mein abhi

Yeah, tha bachpan se yakeen
Bola-bola thak gaya, par yeh samjhte nahi hain
Par pitaaji ne bhi bola, “Aise bakte nahi hain
Kyun garajne waale baadal yoon baraste nahi hain?”
Jhoothi kala waale dilon mein yoon baste nahi hain
Jab se game bada hua yeh log hanste nahi hain
Abhi (haha!) samajhte nahi hain
Jab se game bada hua likhne lag gaye sabhi hain

Abhi toh, abhi toh dosti bojh hai
Sab jataane koi yoon khush hain, aise phone pe kyun hain?
“Tu toh bhool gayta mujhe,” bolte kyun hain?
Dogle kyun hain? Yeh khokle kyun hain?
Yeh trip jaa ke trip maarne ke josh mein kyun hain?

Toh abhi samajh nahi aata (abhi samajh nahi aata)
Umar meri ho gayi hai 22 (umar 22 meri)
Khayal mere ban rahe likhaai (ban rahe likhaawat)
Aur IIT baitha mera dost (IIT baitha dost)
IIIT baitha mera bhai (IIIT baitha mera bhai)
Number toh mere bhi 95 (95)
Par ghanta usse farak pada, bhai (farak pada, bhai)

#VERSE
और तब ICU में था मेरा दोस्त (और तब ICU…)
मैं ख़फ़ा था, मैं किया ना reply (ना reply)
वो गया बिना बोले goodbye (ना goodbye)
अकेलेपन से अब भी लगे डर
नहीं चाह के भी ख़याल खटखटाएँ मेरे

#VERSE
Uh, हाँ, तू लाखों में एक
पर कोई बात नहीं करे अभी आँखों में देख के
क्यूँ छुपाने को तो बातें सबके पास ही अनेक हैं?
और जो दोस्त तेरे जलें तो तू हाथों को सेंक ले
मेरी बात नहीं जमे तो जज़्बातों को देख ले

#VERSE
अभी झूम गए इनकी बातों को लेके
अभी घूम गए इनके वादे लपेट के
और जो ख़ून को बहाने से परहेज़ करें
Right के लिए fight करना उन्हीं को
(Right के लिए fight करना उन्हीं को)

#VERSE
और सुधरने का time ही नहीं है
सभी काँच लेके घूमें, यहाँ आईने नहीं हैं
हाथ जोड़ने या खोलने के मायने नहीं हैं
बाहर क़ायदे नहीं हैं

#OUTRO
झूम गए इनकी बातों को देख के
अभी घूम गए इनके वादे लपेट के
और जो ख़ून को बहाने से परहेज़ करें

Yeah, yeah, yeah, yeah

Haan, 100 shabdon ki ek baat
Soche bina soya nahi ek raat
Likhe huye ho gaya hai ek saal
Raaz mehfooz mere chhe-saat
Doston ke paas, kyonki bhed chaal
Mein chalne waale karein itna bhed-bhaav
Shaitaan ne bola mujhe, “Seb kha”
Bhagwan ne bola, “Maatha tek aa”

Samaaj se pare in raahon mein yoon hi khelte hain
Ghis lenge ediyaan, par ghutne na tekne
Ab dekhte hi dekhte yoon beet gaye saal
Haan, main hoon pareshaan

Tabhi haathon mein yeh Juul hai na
Maa ko pata nahi, ladka rehta door hai na
Saza pata nahi, kathghara qabool hai na
Sudhar jaaunga jo ho gayi yeh bhool hai na
Dhool hai na aankhon mein abhi

Yeah, tha bachpan se yakeen
Bola-bola thak gaya, par yeh samjhte nahi hain
Par pitaaji ne bhi bola, “Aise bakte nahi hain
Kyun garajne waale baadal yoon baraste nahi hain?”
Jhoothi kala waale dilon mein yoon baste nahi hain
Jab se game bada hua yeh log hanste nahi hain
Abhi (haha!) samajhte nahi hain
Jab se game bada hua likhne lag gaye sabhi hain

Abhi toh, abhi toh dosti bojh hai
Sab jataane koi yoon khush hain, aise phone pe kyun hain?
“Tu toh bhool gayta mujhe,” bolte kyun hain?
Dogle kyun hain? Yeh khokle kyun hain?
Yeh trip jaa ke trip maarne ke josh mein kyun hain?

Toh abhi samajh nahi aata (abhi samajh nahi aata)
Umar meri ho gayi hai 22 (umar 22 meri)
Khayal mere ban rahe likhaai (ban rahe likhaawat)
Aur IIT baitha mera dost (IIT baitha dost)
IIIT baitha mera bhai (IIIT baitha mera bhai)
Number toh mere bhi 95 (95)
Par ghanta usse farak pada, bhai (farak pada, bhai)

Aur tab ICU mein tha mera dost (aur tab ICU…)
Main khafa tha, main kiya na reply (na reply)
Woh gaya bina bole goodbye (na goodbye)
Akelepan se ab bhi lage darr
Nahi chaah ke bhi khayal khatkhatayein mere

Uh, haan, tu laakhon mein ek
Par koi baat nahi kare abhi aankhon mein dekh ke
Kyun chhupane ko toh baatein sabke paas hi anek hain?
Aur jo dost tere jalein toh tu haathon ko sek le
Meri baat nahi jamein toh jazbaaton ko dekh le

Abhi jhoom gaye inko baaton ko leke
Abhi ghoom gaye inke vaade lapet ke
Aur jo jhoon ko bahaane se parhez karein
Right ke liye fight karna unhi ko
(Right ke liye fight karna unhi ko)

Aur sudharne ka time hi nahi hai
Sabhi kaanch leke ghoomein, yahan aaine nahi hain
Haath jodne ya kholne ke maayne nahi hain
Baahar kaayde nahi hain

Jhoom gaye inki baaton ko dekh ke
Abhi ghoom gaye inke vaade lapet ke
Aur jo khoon ko bahane se parhez karein

Aaina Song Details:

Album : Aaina
Lyricist(s) : AFKAP
Composers(s) : AFKAP
Music Director(s) : AFKAP
Genre(s) : Hip-Hop/Rap
Music Label : AFKAP

Aaina Song Video:

Popular Albums

ALL

Albums

Similar Artists

ALL

Singers
error: Content is protected !!