Sunday, February 25, 2024

Ladke Rote Nahi Hain

Ladke Rote Nahi Hain Lyrics

Ladke Rote Nahi Hain is a captivating Hindi Indian Pop masterpiece, brought to life by the artistic prowess of Shady Mellow. The lyrics of the song are penned by Shady Mellow, while its mesmerizing music is composed and produced by Anurag Saikia. Ladke Rote Nahi Hain was released as a part of the album MTV Hustle 03 Represent Episode 6 on November 5, 2023. The song has captivated many and is often searched for with the query “Ladke Rote Nahi Hain Lyrics”. Below, you’ll find the lyrics for Shady Mellow’s “Ladke Rote Nahi Hain”, offering a glimpse into the profound artistry behind the song.

Listen to the complete track on Amazon Music

Romanized Script
Native Script

Amare moina hubo ee
Barite bogori rubo ee
Barire bogori poki hori goley
Moinai butoli khabo

Seene mein samaya dard ka samandar
Rooh kaanp jaaye koi jhaank le ‘gar andar
Man up, if you cry you’re a loser
Beta, ladke rote nahi, bas chup kar

Baadal garjein toh maa se lipatkar
Aansu barsein toh duniya se chhupkar
Bete, chup kar, bete, chup kar

Ladke rote nahi hain, ladke rote nahi hain
Zimmedariyan palkon pe, ladke sote nahi hain
Ladke rote nahi hain, ladke rote nahi hain
Zimmedariyan palkon pe, ladke sote nahi hain

Mard ko dard nahi hota, dard-o-gham ka sar nahi hota
Khwaahishen adhoori, khwaab bhi adhoore
Kya woh sapne karta poore ‘gar ghar nahi hota?

Kuch bhi likhta ja raha, pata nahi kya likhun
My mamma called, “Hello?”
“Haan, maa, main theek hoon,” par main theek kahan hoon, mamma
Sirhane sar daba ke cheekh raha hoon, mamma, yeah

Sabko rakhna khush, isi zid pe ada hai
Akele andhere mein woh bhi toh dara hai
Khilaune tootne pe rota tha jo saari raat
Dil tootne pe aaj chup kaise khada hai?

Ladke rote nahi hain, ladke rote nahi hain
Zimmedariyan palkon pe, ladke sote nahi hain
Ladke rote nahi hain, ladke rote nahi hain
Zimmedariyan palkon pe, ladke sote nahi hain

Tang haalaaton mein, ankahi baaton mein
Yaadon ke kohre mein aap ko khote dekha hai
Roshan mehfilon mein muskurata woh bhi, par
Kaale sannaaton mein baap ko rote dekha hai

Baatein purani waapas use kheenchein
Poori jawani beeti kaghazon ke peeche
Kisi se kaha nahi, kahani reh gayi sunaani
Suna nahi suna chaand kitna badalon ke peeche

Ladke rote nahi hain (ladke rote nahi hain)
Ladke rote nahi hain (ladke rote nahi hain)
Zimmedariyan palkon pe (zimmedariyan palkon pe)
Ladke sote nahi hain (ladke sote nahi hain)

Ladke rote nahi hain (ladke rote nahi hain)
Ladke rote nahi hain (ladke rote nahi hain)
Ladkhadate-sambhalte (ladkhadate-sambhalte)
Hosh khote nahi hain

It’s okay to cry ‘gar ghar ki yaad aayi
Chhoote yaar, dost, bhai, ya behen ki vidaai
It’s okay to cry ‘gar woh call na uthaaye
Aur woh laut ke na aaye (at least you tried)

আমাৰে মইনা শুইছে
বাৰীতে বগৰী ৰুইছে
বাৰিৰে বগৰী পকি হৰি গলে
মইনাই বুটলি খাব

सीने में समाया दर्द का समंदर
रूह काँप जाए कोई झाँक ले ‘गर अंदर
Man up, if you cry you’re a loser
बेटा, लड़के रोते नहीं, बस चुप कर

बादल गरजें तो माँ से लिपटकर
आँसू बरसें तो दुनिया से छुपकर
बेटे, चुप कर, बेटे, चुप कर

लड़के रोते नहीं हैं, लड़के रोते नहीं हैं
ज़िम्मेदारियाँ पलकों पे, लड़के सोते नहीं हैं
लड़के रोते नहीं हैं, लड़के रोते नहीं हैं
ज़िम्मेदारियाँ पलकों पे, लड़के सोते नहीं हैं

मर्द को दर्द नहीं होता, दर्द-ओ-ग़म का सर नहीं होता
ख़्वाहिशें अधूरी, ख़्वाब भी अधूरे
क्या वो सपने करता पूरे ‘गर घर नहीं होता

कुछ भी लिखता जा रहा, पता नहीं क्या लिखूँ
My momma called, “Hello?”
“हाँ, माँ, मैं ठीक हूँ,” पर मैं ठीक कहाँ हूँ, mamma
सिरहाने सर दबा के चीख रहा हूँ, mamma, yeah

सबको रखना ख़ुश, इसी ज़िद पे अड़ा है
अकेले अँधेरे में वो भी तो डरा है
खिलौने टूटने पे रोता था जो सारी रात
दिल टूटने पे आज चुप कैसे खड़ा है

लड़के रोते नहीं हैं, लड़के रोते नहीं हैं
ज़िम्मेदारियाँ पलकों पे, लड़के सोते नहीं हैं
लड़के रोते नहीं हैं, लड़के रोते नहीं हैं
ज़िम्मेदारियाँ पलकों पे, लड़के सोते नहीं हैं

तंग हालातों में, अनकही बातों में
यादों के कोहरे में आप को खोते देखा है
रोशन महफ़िलों में मुस्कुराता वो भी, पर
काले सन्नाटों में बाप को रोते देखा है

बातें पुरानी वापस उसे खींचें
पूरी जवानी बीती काग़ज़ों के पीछे
किसी से कहा नहीं, कहानी रह गई सुनानी
सुना नहीं सूना चाँद कितना बादलों के पीछे

लड़के रोते नहीं हैं (लड़के रोते नहीं हैं)
लड़के रोते नहीं हैं (लड़के रोते नहीं हैं)
ज़िम्मेदारियाँ पलकों पे (ज़िम्मेदारियाँ पलकों पे)
लड़के सोते नहीं हैं (लड़के सोते नहीं हैं)

लड़के रोते नहीं हैं (लड़के रोते नहीं हैं)
लड़के रोते नहीं हैं (लड़के रोते नहीं हैं)
लड़खड़ाते-सँभलते (लड़खड़ाते-सँभलते)
होश खोते नहीं हैं

It’s okay to cry ‘गर घर की याद आई
छूटे यार, दोस्त, भाई, या बहन की विदाई
It’s okay to cry ‘गर वो call ना उठाए
और वो लौट के ना आए (at least you tried)

Song Credits

Singer(s):
Shady Mellow
Album:
MTV Hustle 03 Represent Episode 6
Lyricist(s):
Shady Mellow
Composer(s):
Shady Mellow
Music:
Anurag Saikia
Genre(s):
Music Label:
T-Series
Featuring:
Shady Mellow
Released On:
November 5, 2023

Official Video

You might also like

Get in Touch

12,038FansLike
13,982FollowersFollow
10,285FollowersFollow

Other Artists to Explore

Baker Grace

J. Cole

Anchit Magee

Hailee Steinfeld

Georgia