Select Page

Home Lyrics Ektarfa
Ektarfa

Ektarfa

1,537 VIEWS
Ektarfa Lyrics in Hindi | Ektarfa Lyrics in English | Ektarfa Lyrics | Ektarfa Lyrics King

Ektarfa (एकतरफ़ा) is a Hindi rap song by King from his album Khwabeeda. The music of the song is produced by Aakash. King’s Ektarfa lyrics in Hindi and in English are provided below.

Listen to the complete track on Spotify

I spend a lot of time thinking, and
I’d come to realise that, I’m…
I’m just not good for you

तू फ़िर से पास आ, मैं ज़िद नहीं करूँगा
तू फ़िर से दूर जा, मैं कुछ नहीं कहूँगा
जो तेरे जाने से मैं बैठा हूँ मैख़ाने में
मैं खा चुका हूँ धोका, पीने से नहीं मरूँगा

जो तुझसे सीखा हूँ, तुझी पे तो लिखूँगा
जो तुझको चाहूँगा, तुझी पे तो मिटूँगा
जो हँस के आऊँगा मैं फ़िर से तेरे सामने
हूँ ना-पसंद, बता दियो, मैं फ़िर नहीं दिखूँगा

मैंने देखा, तुझमें सादगी रही नहीं
मैंने देखा, तूने कोशिशें बहुत करी
कहे जो, तुझको अपने हाथों से सजा दूँ
है कमी, तू पहने बहुत
फ़िर भी लगता क्यूँ सजी नहीं?

आज भी ऐसे देखे मैंने दायरे नहीं
कि तुझसे बाँट लूँ मैं खुद को
कह दूँ, “आ रहे नहीं हैं तुमसे मिलने”
बेवफ़ा ही थे, जो हँस के कह दिया
कि हम भी धोके खा रहे नहीं

जो फ़िर से देखा, मेरी रुक चली कलम थी
दिल धड़कता, आँखें भीगीं, बातें तंग थीं
जो तुझको सोचा, मेरा पूरा एक जनम थी
जब तुझको देखा, किसी और की सनम थी

दिल तो दुखता है, पर जीना पड़ता ही है
सूरज से चाँद भी अकेले लड़ता ही है
मैं कितना भूलूँ, क़िस्सा तेरा अड़ता ही है
जो कर दें फ़ासला तो प्यार बढ़ता ही है

गाने तो चल रहे, पर बातें तेरी-मेरी है
चिराग़ बुझ गए, पर तेरी-मेरी है
हुआ वो एक ना जो सात जनम का वादा था
तो इस सदी में, जानाँ, क्या औक़ात तेरी-मेरी है?

माना मैं सब ही कुछ जीता, कुछ भी हारा ना
पर जिसको हारा उसको देखा फ़िर दोबारा ना
जो धस गया हूँ जा के रेत में मैं आँखों तक
तू है समुंदर, मुझपे बूँद का सहारा ना

ना मुझसे पूछ मेरे हाल क्या सितारों का
ना दम तू खा ये आ के नोटों की दीवारों का
है पैसा क्या, तू छोटी बातें ना किया कर
मैं बस प्यार से ग़रीब, मुझको मोल ना हज़ारों का

जो मुझसे पूछ ले तू रास्ता बहारों का
तो हँस के कह दूँ तू नज़ारा मेरी आँखों का
मैं जिसको कोसने चला हूँ उसका नाम याद
फ़िर भी लिख ना पाना दोष काम है गँवारों का

जो तुझको देखा, आसमाँ में चाँद था नहीं
कहीं पे छुप गया कि कहता लगता नहीं
इससे हसीन मैंने देखा कही कुछ
कि लोग यूँ ही लिखते रहते मुझपे
ऐ ख़ुदा, मैं चाँद नहीं

ये तेरे रेशमी जो बाल जाल-साज़ी है
मरा नहीं, पर जीते-जी तू मेरी फाँसी है
दबा नहीं गला, क्यूँ साँस मेरी घुट रही?
मैं क्या ही दूँ सज़ा, जा तेरी हर सज़ा ही माफ़ी है

मुझे ख़बर नहीं तू किस ज़ुबाँ में राज़ी है
दिखे असर नहीं, तू किस दुआ में बाक़ी है?
अगर कभी मैं तेरे सामने से गुज़रूँ
मुझको मिल तू या नहीं, पर तेरी एक नज़र ही काफ़ी है

एकतरफ़ा मैं नाम भी बना लूँगा
एकतरफ़ा मैं नाम भी छुपा लूँगा
एक अरसा जो बीते तेरी यादों में
मैं होके मशहूर तुझपे ज़िंदगी लुटा दूँगा

I spend a lot of time thinking, and
I’d come to realise that I’m…
I’m just not good for you

Tu phir se paas aa, main zid nahi karunga
Tu phir se door ja, main kuch nahi kahunga
Jo tere jaane se main baitha hoon maikhane mein
Main kha chuka hoon dhoka, peene se nahi marunga

Jo tujhse seekha hoon tujhi pe toh likhunga
Jo tujhko chahunga, tujhi pe toh mitunga
Jo has ke aaunga main phir se tere saamne
Hoon na-pasand, bata diyo, main phir nahi dikhunga

Maine dekha, tujhmein saadgi rahi nahi
Maine dekha, tune koshishein bahut kari
Kahe jo, tujhko apne haathon se saja doon
Hai kami, tu pehne bahut
Phir bhi lagta kyun saji nahi?

Aaj bhi aise dekhe maine daayre nahi
Ke tujhse baant loon main khud ko
Keh doon, “Aa rahe nahi hain tumse milne”
Bewafa hi the, jo has ke keh diya
Ke hum bhi dhokhe kha rahe nahi

Jo phir se dekha, meri ruk chali kalam thi
Dil dhadakta, aankhein bheegi, baatein tang thi
Jo tujhko socha, mera poora ek janam thi
Jab tujhko dekha, kisi aur ki sanam thi

Dil toh dukhta hai, par jeena padta hi hai
Sooraj se chaand bhi akele ladta hi hai
Main kitna bhoolun, kissa tera adta hi hai
Jo kar dein faasla toh pyaar badhta hi hai

Gaane toh chal rahe, par baat teri-meri hai
Chiraag bujh gaye, par raat teri-meri hai
Hua woh ek na jo saat janam ka waada tha
Toh iss sadi mein jaana kya aukat teri-meri hai?

Maana main sab hi kuch jeeta, kuch bhi haara na
Par jisko haara usko dekha phir dobara na
Jo dhas gaya hoon jaake ret mein main aankhon tak
Tu hai samundar, mujhpe boond ka sahara na

Na mujhse pooch mere haal kya sitaron ka
Na dum tu kha yeh aake noton ki deewaron ka
Hai paisa kya, tu chhoti baatein na kiya kar
Main bas pyaar se gareeb, mujhko mol na hazaron ka

Jo mujhse pooch le tu raasta bahaaron ka
Toh has ke keh doon tu nazara meri aankhon ka
Main jisko kosne chala hoon uska naam yaad
Phir bhi likh na paana dosh kaam hai gawaron ka

Jo tujhko dekha, aasmaan mein chaand tha nahi
Kahin pe chhup gaya ke kehta lagta nahi
Issey haseen maine dekha kahin kuch
Ke log yoon hi likhte rehte mujhpe
Ae khuda, main chaand nahi

Yeh tere reshmi jo baal jaal-saazi hai
Mara nahi, par jeete-ji tu meri faasi hai
Daba nahi gala, kyun saans meri ghut rahi?
Main kya hi doon saza, ja teri har saza hi maafi hai

Mujhe khabar nahi tu kis zubaan mein raazi hai
Dikhe asar nahi, tu kis dua mein baaqi hai?
Agar kabhi main tere saamne se guzroon
Mujhko mil tu ya nahi, par teri ek nazar hi kaafi hai

Ektarfa main naam bhi bana loonga
Ektarfa main naam bhi chhupa loonga
Ek arsa jo beete teri yaadon mein
Main hoke mash’hoor tujhpe zindagi luta doonga

Ektarfa Song Details:

Album : Ektarfa
Lyricist(s) : King
Composers(s) : King
Music Director(s) : Aakash
Genre(s) : Hip-Hop/Rap
Music Label : King
Starring : King

Ektarfa Song Video:

Popular Albums

ALL

Albums

Similar Artists

ALL

Singers
error: Content is protected !!