Select Page

Home Lyrics Humesha
Humesha

Humesha

331 VIEWS
Humesha Lyrics | Humesha Lyrics in Hindi | Urdu Rap Song | Nabeel Akbar, Jokhay

Humesha (हमेशा) is an Urdu Rap song written and performed by Nabeel Akbar & Jokhay. The Music of the song is produced by Jokhay. Nabeel Akbar’s Humesha lyrics in Hindi and in the romanized form are provided below.

Listen to the complete track here

Yeah

दिलबर, मेरी जान जैसे दाव पे
मिलकर सब बताऊँगा, जब आओगे
दिन कम, शायद मिल ना सकें फिर हम
लिख रहा ये ख़त इसीलिए मैं तुम्हें
अफ़सोस तेरे संग मिला वक़्त कम
हर रोज़ तुझे याद करते बरहम
करता नहीं बात, मगर लगता है आज
अगर टूटने लगा साबर, ख़ुद से नाराज़

जब दिल बेक़रार करे ख़ुद से सवाल
कि तू आलिम या फ़ाज़िल, या जाहिल-गवार
रहता क्यूँ ख़ून तेरे सर पे सवार?
इस हालत का तेरी तू ख़ुद ज़िम्मेदार
तेरा बदला मिज़ाज, तू क्या भूल रहा औक़ात?
तेरे से काफ़ी सवाल, जिनसे फट रहा दिमाग़
लगता क्यूँ आज पास आख़िरी है रात?
तारे आज सारे हादसात, पास नहीं इलाज

ऐसी मुझमें क्या ख़ास बात? दुनिया ख़िलाफ़ पूरी
देखा तेरा ख़्वाब आज जब मेरी आँख खुली
रात साड़े-तीन बजे उठे आधी नींद में से
आज भी रुलाये तेरी याद इस उम्मीद में
कि काश किसी तरह आ जाए बाहर तस्वीर में से

कर ना बात पूरी, लग गई क्या बात बुरी?
तेरे-मेरे बीच में खिंच गई लकीर कैसे?
सीधा मार छुरी दिल के तू आर-पार
क्योंकि मेरी जान, जिया जाए ना मज़ीद ऐसे मुझसे
क्या कहूँ, ग़म मुझे ढूँढ लेते ख़ुद से
दूर भागूँ जितना भी मर्ज़ी
ये फिर मुझे घेर लेते चारों तरफ़ से
हो गए बरफ़ से दिल पत्थर के जैसे
पर रंग नहीं बदलते, हम बचपन से ऐसे
तब के ये क़र्ज़े कुछ सर पे हैं मेरे
मशहूरी से पहले जब थे हम अकेले (अकेले)

जाने आज क्यूँ लगे जैसे हम कल ना रहें
फ़रिश्ते मौत के मुझे लेने को आ रहे
गिनती के दिन बचे, हम तुम्हें बिन कहे
मुक़म्मल करके सफ़र दूर तुमसे जा रहे
Yeah, मेरी जान-ए-जानाँ, सभी ने है चले जाना
मेरा ये गाना तेरे नाम सुन के मुस्कुराना
मत होना फिर उदास तू, मैं हमेशा तेरे पास ही हूँ

दिन-भर रहता तेरे ही ख़याल में
क़िस्मत ले आई हमें ये किस हाल में?
कितना कुछ बदला देख एक ही साल में
कल तक था मैं बस आम सा इंसान एक
दुश्मन काफ़ी बैठे मेरी ताक में
ऐसा लगे जैसे जी रहा मैं ख़्वाब में
जितने मर्ज़ी बदल लूँ ठिकाने
पर जिधर भी मैं जाऊँ, मुझे सब ख़ुद पहचान लें

सुन के मेरे दो-चार गाने
सबको लगे मेरे बारे सब कुछ वो जानें
असल यार वो ही दो-चार जानें हैं
बाक़ी सारे लगे ख़ाली मुझको गिराने
दुश्म बने दोस्त, दोस्त बने दुश्मन
देखता अब सबको मैं शक की निगाह से
कुछ भी नहीं मिलता इस दुनिया में मुफ़्त
मैंने रखे सँभाल के तोहफ़े तुम्हारे

लौट आने का होगा जब मौक़ा
लौटूँगा दोबारा, नहीं देता मैं धोका
मुकर जाते करके तुम वादे
तो होगा मुझे तुम पे कैसे भरोसा?
कहा अपना अब तक निभा रहे
लगता इधर एक ऐसा मैं ही अनोखा
बातें जो बीच में हमारे
नहीं काभी मैंने कुछ किसी से भी बोला
शायद तभी दिल होता भारी
ये ग़म मेरे लगते सबको कलाकारी
मैं तो शुरू से मवाली
नहीं होती मुझसे किसी की भी ग़ुलामी (ना)
बदलने की जितनी भी कर लूँ मैं कोशिश
मगर अब ये मुमकिन नहीं
मोहब्बत सी हो गई इन सड़कों से मुझे
ये ज़िंदगी पूरी यहीं तो गुज़ारी

जाने आज क्यूँ लगे जैसे हम कल ना रहें
फ़रिश्ते मौत के मुझे लेने को आ रहे
गिनती के दिन बचे, हम तुम्हें बिन कहे
मुक़म्मल करके सफ़र दूर तुमसे जा रहे
Yeah, मेरी जान-ए-जानाँ, सभी ने है चले जाना
मेरा ये गाना तेरे नाम सुन के मुस्कुराना
मत होना फिर उदास तू, मैं हमेशा तेरे पास ही हूँ

Yeah

Dilbar, meri jaan jaise daav pe
Milkar sab bataunga, jab aaogey
Din kam, shayad mil na sakein phir hum
Likh raha yeh khat isiliye main tumhein
Afsos tere sang mila waqt kam
Har roz tujhe yaad karte barham
Karta nahi baat, magar lagta hai aaj
Agar tootne laga sabar, khud se naaraz

Jab dil beqaraar kare khud se sawaal
Ke tu aalim ya faazil, ya jaahil-gawaar
Rehta kyun khoon tere sir pe savaar?
Iss halat ka teri tu khud zimmedar
Tera badla mizaaj, tu kya bhool raha auqaat?
Tere se kaafi sawaal, jinse fat raha dimaag
Lagta kyun aaj paas aakhri hai raat?
Taare aaj saare haadsaat, paas nahi ilaaj

Aisi mujhmein kya khaas baat? Duniya khilaaf poori
Dekha tera khwaab aaj jab meri aankh khuli
Raat saade-teen baje uthe aadhi neend mein se
Aaj bhi rulaaye teri yaad iss ummid mein
Ke kaash kisi tarah aa jaaye bahar tasveer mein se

Kar na baat poori, lag gayi kya baat buri?
Tere-mere beech mein khinch gayi lakeer kaise?
Seedha maar chhuri dil ke tu aar-paar
Kyonki meri jaan, jiya jaaye na mazeed aise mujhse
Kya kahoon, gham mujhe dhoondh lete khud se
Door bhaagun jitna bhi marzi
Yeh phir mujhe gher lete chaaron taraf se
Ho gaye baraf se dil patthar ke jaise
Par rang nahi badalte, hum bachpan se aise
Tab ke yeh karze kuch sir pe hain mere
Mash’hoori se pehle jab the hum akele (akele)

Jaane aaj kyun lage jaise hum kal na rahein
Farishtey maut ke mujhe lene ko aa rahe
Ginti ke din bache, hum tumhein bin kahe
Muqammal karke safar door tumse jaa rahe
Yeah, meri jaan-e-jaana, sabhi ne hai chale jaana
Mera yeh gaana tere naam sunke muskurana
Mat hona phir udaas tu, main humesha tere paas hi hoon

Din-bhar rehta tere hi khayal mein
Qismat le aayi humein yeh kis haal mein
Kitna kuch badla dekh ek hi saal mein
Kal tak tha main bas aam sa insaan ek
Dushman kaafi baithe meri taak mein
Aisa lage jaise jee raha main khwaab mein
Jitne marzi badal loon thikaane
Par jidhar bhi main jaaun, mujhe sab khud pehchaan lein

Sun ke mere do-chaar gaane
Sabko lage mere baare sab kuch woh jaanein
Asal yaar wohi do-chaar jaanein hain
Baaqi saare lage khaali mujhko giraane
Dushman bane dost, dost bane dushman
Dekhta ab sabko main shaq ki nigaah se
Kuch bhi nahi milta iss duniya mein muft
Maine rakhe sambhaal ke tohfe tumhare

Laut aane ka hoga jab mauka
Lautunga dobara, nahi deta main dhoka
Mukar jaate karke tum vaade
Toh hoga mujhe tumpe kaise bharosa?
Kaha apna ab tak nibha rahe
Lagta idhar ek aisa main hi anokha
Baatein jo beech mein humaare
Nahi kabhi maine kuch kisi se bhi bola
Shayad tabhi dil hota bhaari
Yeh gham mere lagte sabko kalakakaari
Main toh shuru se mavaali
Nahi hoti mujhse kisi ki bhi gulaami (na)
Badalne ki jitni bhi kar loon main koshish
Magar ab yeh mumkin nahi
Mohabbat si ho gayi inn sadkon se mujhe
Yeh zindagi poori yahin toh guzaari

Jaane aaj kyun lage jaise hum kal na rahein
Farishtey maut ke mujhe lene ko aa rahe
Ginti ke din bache, hum tumhein bin kahe
Muqammal karke safar door tumse jaa rahe
Yeah, meri jaan-e-jaana, sabhi ne hai chale jaana
Mera yeh gaana tere naam sunke muskurana
Mat hona phir udaas tu, main humesha tere paas hi hoon

Humesha Song Details:

Album : Humesha
Lyricist(s) : Nabeel Akbar, Jokhay
Composers(s) : Jokhay, Nabeel Akbar
Music Director(s) : Jokhay
Genre(s) : Hip-Hop/Rap
Music Label : Nabeel Akbar
Starring : Nabeel Akbar

Humesha Song Video:

Popular Albums

ALL

Albums

Similar Artists

ALL

Singers
error: Content is protected !!