Select Page

Home Lyrics Khana Badosh
Khana Badosh

Khana Badosh

91 VIEWS
Khana Badosh Lyrics | Khana Badosh Lyrics in Hindi | Jokhay, Talha Anjum, Nabeel Akbar, JJ47

Khana Badosh (ख़ाना-बदोश, خانَہ بَدوش) is an Urdu rap song by Jokhay, JJ47, Nabeel Abar, and Talha Anjum from Jokhay’s album Khana Badosh. Jokhay’s Khana Badosh Lyrics in Hindi and in the romanized form are provided below.

Listen to the complete track on Spotify

दिल है ज़ख्मी, कैसे मुझे मर्ज़ छोड़े
ये ख़ुशी को तरसे, और मुझे नहीं दर्द छोड़े
माँ बोली, “बेटा बने हाफ़िज़, दर्स छोड़े”
पढ़ा करो सुनाते, और मैंने यहाँ फ़र्ज़ छोड़े
जितना आगे बढ़ा, लोगों से ग़र्ज़ छोड़े
पढ़ा ना क़ुरान मैंने, पेश ज़ेर-ज़बर छोड़े
ज़िंदगी GTA, बिना cheat codes के
Leave me alone, मैंने काम सारे कर छोड़े

१० साल मैंने पाँच अपने घर छोड़े
जाने क्या सब कुछ किया किसकी ख़ातिर
मेरा कोई नहीं ठिकाना, पंजाबी हो के भी मैं लगता महाजिर
ये है ज़ाहिर, खेलती है खेल दुनिया
Fuck being legend, I die young rather
औक़ात की और ज़ात की बात करूँ बाद में
पाँव कैसे फ़ैलाता, जब थी ही ना चादर?

माना ऐसे कामों में तो थोड़ा होता रिस्क-विस्क
सीधा बंदा, सीधी बातें, नहीं होती ट्रिक्स-व्रिक्स
रातें जागूँ, beats ढूँढूँ, गाने लिखूँ
सुबह उठ के call करूँ, “Jokhay, गाने कर दे मिक्स-विक्स”
सब ही मुझसे ऊपर तो फिर कैसे conflicts?
Music करूँ अपने लिए, नहीं views clicks
कितनी fans मेरे DM में slide करें
I’m a one woman man, fuck you all side chicks

जिगर, ये industry तेरी सगी ना
जिगर, सोई क़िस्मत अभी जगी ना
तुझे लगे तेरा अब सही, सब सही
शुकर कर ख़ुदा का, अभी चोट तुझे लगी ना

हासिल है, इन चीज़ों से क्या हासिल है?
क़ातिल है, J ख़ुद का क़ातिल है
लोग देखूँ, आगे बढ़ें, सीढ़ी चढ़ें
और judge करूँ ख़ुद को, “क्या J इतना क़ाबिल है?”

आ मिले, मुझसे लोग कितने आ मिले
गले लगें, साथ चलें, जैसे माँ मिले
जा मिले, तुझे अच्छा ही सिला मिले
फ़हरिस्त बुराई की और J भी उसमें शामिल है

कब तक लेके चलूँ सीने में ये बोझ मैं?
बिना नशे के भी रहता हूँ मदहोश मैं
खो रहा होश मैं, डूबा गहरी सोच में
बदलता ठिकाने, जैसे हूँ ख़ाना-बदोश मैं
कब तक लड़ूँ अपने आप से यूँ रोज़ मैं?
ग़लत फ़ैसले ना ले लूँ कहीं जोश में
खो रहा होश मैं, डूबा गहरी सोच में
बदलता ठिकाने, जैसे हूँ ख़ाना-बदोश मैं

बदलता ठिकाने, जैसे हूँ ख़ाना-बदोश मैं
बदलता ठिकाने, जैसे हूँ ख़ाना-बदोश मैं
बदलता ठिकाने, जैसे हूँ ख़ाना-बदोश मैं
बदलता ठिकाने, जैसे हूँ ख़ाना-बदोश

समझ नहीं आ रहा कि मैं फँसा हुआ कैसी जगह
ढूँढे सहारा, दिल ये दे रहा ख़ुद को कैसी सज़ा?
हसरत भरी निगाहें, दर्द में भी मुस्कुराएँ
खो चुके हैं लफ़्ज़, जैसे लिख रहा मैं पहली दफ़ा

मेरी जगह रख के देख तू अपने आप को
पैदा होते ही खो दिया जिसने बाप को
माँ मेरी जन्नत, जिसके लिए करता मैं मन्नत
जीते-जी मैं हर ख़ुशी अब अपनी देना चाहता आप को

तेरे अलावा मेरा इस दुनिया में था ही कौन?
आज मुझको चाहने वाले मानें अपना icon
देख वक़्त बदल रहा, ये नहीं रहा पहले जैसा
फ़िकर नहीं कर माँ, अब सबसे लड़ लेगा ख़ुद तेरा बेटा

हाँ, मैं बदल चुका, मैं पहले बिल्कुल ऐसा नहीं था
नहीं ज़्यादा पढ़ सका, पास पढ़ने के लिए पैसा नहीं था
फिर भी मैं बेहतर तुझसे, डरते काफ़ी rapper मुझसे
पास तेरे सब कुछ, बस ये जिगरा मेरे जैसा नहीं था

Music का शौक़ था तब, पर ये मेरा पेशा नहीं था
यही शौक़ मेरा बदल गया दीवानगी में
हँसी-ख़ुशी देने के लिए राज़ी अपनी जान भी
आज भी जी रहा ज़िंदगी अपनी सादगी में
आज भी याद करूँ गुज़रे हुए साथी
ग़म-ओ-ख़ुशियाँ जिनसे बाँटी, रातें अच्छी-बुरी काटी
मेरे हिस्से में क्या मालिक तूने लिखी सिर्फ़ बर्बादी?
या मैं बातों पे ज़रा सी फिर से हो रहा जज़्बाती?

अब आ के लड़े मुझसे, किसी में नहीं तप्पड़
जितने मर्ज़ी ला, अकेला भारी हूँ मैं सब पर
किसी मुक़ाबले से हटा नहीं पीछे कभी
मैं नबील अकबर, शेर वो भी बब्बर

कब तक लेके चलूँ सीने में ये बोझ मैं?
बिना नशे के भी रहता हूँ मदहोश मैं
खो रहा होश मैं, डूबा गहरी सोच में
बदलता ठिकाने, जैसे हूँ ख़ाना-बदोश मैं
कब तक लड़ूँ अपने आप से यूँ रोज़ मैं?
ग़लत फ़ैसले ना ले लूँ कहीं जोश में
खो रहा होश मैं, डूबा गहरी सोच में
बदलता ठिकाने, जैसे हूँ ख़ाना-बदोश मैं

बदलता ठिकाने, जैसे हूँ ख़ाना-बदोश मैं
बदलता ठिकाने, जैसे हूँ ख़ाना-बदोश मैं
बदलता ठिकाने, जैसे हूँ ख़ाना-बदोश मैं
बदलता ठिकाने, जैसे हूँ ख़ाना-बदोश

ज़िक्र भी क्या उसे भला मेरा?
उससे रिश्ता ही क्या रहा मेरा?
आज मुझको बहुत बुरा कह कर
आपने नाम तो लिया मेरा
आख़िरी बात है तुमसे कहना
याद रखना तुम ये कहा मेरा
अब तो कुछ भी नहीं हूँ मैं वैसे
कभी वो भी था मुब्तिला मेरा

अब पैसा पीर, नशा कमान, पैसा तीर
और कैसा प्यार, कैसे यार, और कैसे वीर
अब ना हैं राँझे, ना लैला, और ना कोई हीर
अब मैं ख़ाना-बदोश, hustle की है मुंडीर
वो सुनके मुझे हो जाते हैं आबदीदा
तू लड़का था लड़कपन में, बेटा मैं आदमी था

I broke your back, I smoke a bag
I break your leg, I take your life
No remorse, so fuck your fam
And fuck your fame, and fuck your fans
The fuck you saying? The fuck who cares?
Fuck your sides and fuck your mains
Fuck your calls and fuck your plan
I got it all, मैं ढूँढता चैन

कराची king, ज़रूरत नहीं ताज की
मेरी कल की hustle, जो आसानी लगे आज की
शाहीन हूँ मैं (yeah), कभी गिरा ना
और गिर के उठा तो फिर उड़ने से मैं डरा ना
Smoke trees बिला-नाग़ा, बादल मेरा सिरहाना
कौन कितने पानी में था, फिर भी उसमें तैरा ना

कब तक लेके चलूँ सीने में ये बोझ मैं?
बिना नशे के भी रहता हूँ मदहोश मैं
खो रहा होश मैं, डूबा गहरी सोच में
बदलता ठिकाने, जैसे हूँ ख़ाना-बदोश मैं
कब तक लड़ूँ अपने आप से यूँ रोज़ मैं?
ग़लत फ़ैसले ना ले लूँ कहीं जोश में
खो रहा होश मैं, डूबा गहरी सोच में
बदलता ठिकाने, जैसे हूँ ख़ाना-बदोश मैं

बदलता ठिकाने, जैसे हूँ ख़ाना-बदोश मैं
बदलता ठिकाने, जैसे हूँ ख़ाना-बदोश मैं
बदलता ठिकाने, जैसे हूँ ख़ाना-बदोश मैं
बदलता ठिकाने, जैसे हूँ ख़ाना-बदोश

Dil hai zakhmi, kaise mujhe marz chhode
Yeh khushi ko tarsein, aur mujhe nahi dard chhode
Maa boli, “Beta bane hafiz, dars chhode”
Padha karo sunaate, aur maine yahan farz chhode
Jitna aage badha, logon se gharz chhode
Padha na Quran maine, pesh zer zabar chhode
Zindagi GTA, bina cheat codes ke
Leave me alone, maine kaam saare kar chhode

10 saal maine paanch apne ghar chhode
Jaane kya sab kuch kiya kiski khaatir
Mera koi nahi thikana
Punjabi ho ke bhi main lagta mahajir
Yeh hai zaahir, khelti hai khel duniya
Fuck being legend, I die young rather
Aukaat ki aur zaat ki baat karoon baad mein
Paanv kaise main failata, jab thi hi na chaadar?

Maana aise kaamon mein toh thoda hota risk-wisk
Seedha banda, seedhi baatein, nahi hoti trick-wricks
Raatein jaagun, beats dhoondhun, gaane likhoon
Subah uth ke call karoon, “Jokhay, gaane karde mix-wix”
Sab hi mujhse upar toh phir kaise conflicts?
Music karoon apne liye, nahi views clicks
Kitni fans mere DM mein slide karein
I’m a one woman man, fuck you all side chicks

Jigar, yeh industry teri sagi na
Jigar, soi kismat abhi jagi na
Tujhe lage tera ab sahi, sab sahi
Shukar kar khuda ka, abhi chot tujhe lagi na

Hasil hai, in cheezon se kya mujhe hasil?
Qatil hai, J khud ka qatil hai
Log dekhoon, aage badhein, seedhi chadhein
Aur judge karoon khud ko, “Kya J itna qabil hai?”

Aa mile, mujhse log kitne aa mile
Gale lagein, saath chalein, jaise maa mile
Ja mile, tujhe achcha hi sila mile
Fehrist buraai ki aur J bhi uss mein shaamil hai

Kab tak leke chaloon seene mein yeh bojh main?
Bina nashe ke bhi rehta hoon madhosh main
Kho raha hosh main, dooba gehri soch mein
Badalta thikaane, jaise hoon khana badosh main
Kab tak ladoon apne aap se yoon roz main?
Galat faisle na le loon kahin josh mein
Kho raha hosh main, dooba gehri soch mein
Badalta thikaane, jaise hoon khana badosh main

Badalta thikaane, jaise hoon khana badosh main
Badalta thikaane, jaise hoon khana badosh main
Badalta thikaane, jaise hoon khana badosh main
Badalta thikaane, jaise hoon khana badosh

Samajh nahi aa raha ke main fasa hua kaisi jagah
Dhoondhe sahara, dil yeh de raha khud ko kaisi saza?
Hasrat bhari nigaahein, dard mein bhi muskurayein
Kho chuke hain lafz, jaise likh raha main pehli dafa

Meri jagah rakh ke dekh tu apne aap ko
Paida hote hi kho diya jisne baap ko
Maa meri jannat, jiske liye karta main mannat
Jeete-ji main har khushi ab apni dena chahta aap ko

Tere alawa mera iss duniya mein tha hi kaun?
Aaj mujhko chaahne waale maanein apna icon
Dekh waqt badal raha, yeh nahi raha pehle jaisa
Fikar nahi kar maa, ab sabse lad lega khud tera beta

Haan, main badal chuka, main pehle bilkul aisa nahi tha
Nahi zyada padh saka, paas padhne ke liye paisa nahi tha
Phir bhi main behtar tujhse, darte kaafi rapper mujhse
Paas tere sab kuch, bas yeh jigra mere jaisa nahi tha

Music ka shauq tha tab, par yeh mera pesha nahi tha
Yahi shauq mera badal gaya deewangi mein
Hasi-khushi dene ke liye raazi apni jaan bhi
Aaj bhi jee raha zindagi apni saadgi mein
Aaj bhi yaad karoon guzre huye saathi
Gham-o-khushiyan jinse baanti, raatein achchi buri kaati
Mere hisse mein kya maalik tune likhi sirf barbaadi?
Ya main baaton pe zara si phir se ho raha jazbaati?

Ab aake lade mujhse kisi mein nahi tappad
Jitne marzi laa, akela bhaari hoon main sab par
Kisi muqaable se hata nahi peeche kabhi
Main Nabeel Akbar, sher woh bhi babbar

Kab tak leke chaloon seene mein yeh bojh main?
Bina nashe ke bhi rehta hoon madhosh main
Kho raha hosh main, dooba gehri soch mein
Badalta thikaane, jaise hoon khana badosh main
Kab tak ladoon apne aap se yoon roz main?
Galat faisle na le loon kahin josh mein
Kho raha hosh main, dooba gehri soch mein
Badalta thikaane, jaise hoon khana badosh main

Badalta thikaane, jaise hoon khana badosh main
Badalta thikaane, jaise hoon khana badosh main
Badalta thikaane, jaise hoon khana badosh main
Badalta thikaane, jaise hoon khana badosh

Zikr bhi kya usey bhala mera?
Ussey rishta hi kya raha mera
Aaj mujhko bahut bura kehkar
Aapne naam toh liya mera
Aakhri baat hai tumse kehna
Yaad rakhna tum yeh kaha mera
Ab toh kuch bhi nahi hoon main waise
Kabhi woh bhi tha mubtila mera

Ab paisa peer, nasha kamaan, paisa teer
Aur kaisa pyaar, kaise yaar, aur kaise veer
Ab na hain Raanjhe, na Laila, aur na koi Heer
Ab main khana badosh, hustle ki hai mundeer
Woh sunke mujhe ho jaate hain aabdeeda
Tu ladka tha ladakpan mein, beta main aadmi tha

I broke your back, I smoke a bag
I break your leg, I take your life
No remorse, so fuck your fam
And fuck your fame, and fuck your fans
The fuck you saying? The fuck who cares?
Fuck your sides and fuck your mains
Fuck your calls and fuck your plan
I got it all, main dhoondta chain

Karachi king, zaroorat nahi taj ki
Meri kal ki hustle, jo aasani lage aaj ki
Shaheen hoon main (yeah), kabhi gira na
Aur gir ke utha toh phir udne se main dara na
Smoke trees bila naaga, baadal mera sirhana
Kaun kitne paani mein tha, phir bhi usmein taira na

Kab tak leke chaloon seene mein yeh bojh main?
Bina nashe ke bhi rehta hoon madhosh main
Kho raha hosh main, dooba gehri soch mein
Badalta thikaane, jaise hoon khana badosh main

Kab tak leke chaloon seene mein yeh bojh main?
Bina nashe ke bhi rehta hoon madhosh main
Kho raha hosh main, dooba gehri soch mein
Badalta thikaane, jaise hoon khana badosh main

Khana Badosh Song Details:

Album : Khana Badosh
Lyricist(s) : Jokhay, Nabeel Akbar, JJ47, Talha Anjum
Composers(s) : Jokhay
Music Director(s) : Jokhay
Genre(s) : Hip-Hop/Rap
Music Label : Jokhay
Starring : Jokhay, Nabeel Akbar, JJ47, Talha Anjum

Khana Badosh Song Video:

Popular Albums

ALL

Albums

Similar Artists

ALL

Singers