Select Page

Home Lyrics Main Barfani Raat
Main Barfani Raat

Main Barfani Raat

186 VIEWS

Main Barfani Raat (मैं बर्फ़ानी रात) is a romantic song by Vishal Wakchaure. The song beautifully makes a comparison between the lyricist and his beloved. Vishal Wakchaure’s Main Barfani Raat lyrics in Hindi and in romanized form are provided below.

Listen to the complete track on Spotify

मैं बर्फ़ानी रात, तुम जाड़ों की सुबह
मैं गरमी की शाम, तुम सावन की फ़ुहार

कैसे तू मुझको है मिल गई?
मेरा तो खुद मैं ना था कभी
कैसे लौटाऊँ ये उलफ़ते?
हो सके तो यूँ आज कर दूँ मैं खुद को अदा

मैं अमावस की रात, तुम पूनम का हो चाँद
मैं बर्फ़ानी रात, तुम शबनम की मुराद

मेरे लकीरों से जुड़ना तेरा है निसार
रिमझिम बरसता तू सावन, मैं जैसे बुखार
प्यासा हूँ मैं रेत सा धूप में बेबसर
लहरों सी तुम छूने आती रही उम्र भर

मैं गुज़रता वो पल, तुम बहारों की सदी
मैं बारिश की नहर, तुम बहती वो नदी

सागर से मिलने तू बह रही
प्यासा मैं रेत का दरिया हूँ
मुझमें तू घुल के कहीं नहीं
अफ़सोस है, क्यूँ ना तुझ से जुदा मैं रहूँ?

मैं बर्फ़ानी रात, तुम जाड़ों की सुबह
मैं गरमी की शाम, तुम सावन की फ़ुहार

Main barfani raat, tum jaadon ki subah
Main garmi ki shaam, tum saawan ki fuhaar

Kaise tu mujhko hai mil gayi
Mera toh khud main na tha kabhi
Kaise lautaaun yeh ulfatein
Ho sake toh yoon aaj kar doon main khud ko adaa

Main amaavas ki raat, tum poonam ka ho chaand
Main barfani raat, tum shabnam ki muraad

Mere lakeeron se judna tera hai nisar
Rimjhim barasta tu saawan, main jaise bukhaar
Pyasa hoon main ret sa dhoop mein bebasar
Lehron si tum chhoone aati rahi umr bhar

Main guzarta woh pal, tum bahaaron ki sadi
Main baarish ki neher, tum behti woh nadi

Saagar se milne tu beh rahi
Pyasa main ret ka dariya
Mujhmein tu ghul ke kahin nahi
Afsos hai, kyun na tujhse juda main rahoon?

Main barfani raat, tum jaadon ki subah
Main garmi ki shaam, tum saawan ki fuhaar

Main Barfani Raat Song Details:

Album : Main Barfani Raat

Main Barfani Raat Song Video:

Popular Albums

ALL

Albums

Similar Artists

ALL

Singers