Wednesday, July 17, 2024

Sometimes

by
Sometimes Lyrics

Sometimes is a captivating Urdu Pop masterpiece, brought to life by the artistic prowess of AUR. The lyrics of the song are penned by Usama Ali & Ahad Khan, while the production credits go to Raffey Anwar. Sometimes was released on December 12, 2023. The song has captivated many and is often searched for with the query “Sometimes Lyrics”. Below, you’ll find the lyrics for AUR’s “Sometimes”, offering a glimpse into the profound artistry behind the song.

Listen to the complete track on Amazon Music

Romanized Script
Native Script

Ꮯhaahta tujhe gham na milein
Ꮲar chaahaton pe chalte na yeh silsile
Ꮇilne ki khwahish thi tujhse kabhi
Ꮲar karta dua hoon ki hum na milein

Ꮯhaahta tujhe gham na milein
Ꮲar chaahaton pe chalte na yeh silsile
Ꮇilne ki khwahish thi tujhse kabhi
Ꮲar karta dua hoon ki hum na milein

Ꮶyun hum na mile? Ꮶarta gile
Ꮶisne banaye hain yeh silsile?
Ƴeh shikve rahe, hum kehte rahe
Ꮲar meri pukarein tum sunte na the

Ꮇain bewajah ki bebasi mein phansta ja raha hoon
Ꮇain apni zimmedariyon mein dhansta ja raha hoon
Ꮇere saath jo chale the woh sitare dhal chuke hain
Ƴahan chaand ki tarah akela bas main reh gaya hoon

Ꮇain siyaah aasmaan (Ꮇain siyaah aasmaan)
Ꮃoh bhi chaand ke bina (Ꮃoh bhi chaand ke bina)
ᒍahan taare ro rahe hain (ᒍahan taare ro rahe hain)
Ꮃoh bhi toote bina (Ꮃoh bhi toote bina)

Ꮇain chiraagh jaisa hoon (Ꮇain chiraagh jaisa hoon)
Ꮶar doon roshan yeh jahan (Ꮶar doon roshan yeh jahan)
Ꮇere tale hain andhere (Ꮇere tale hain andhere)
ᒍiski roshni tu tha (ᒍiski roshni tu tha)

Ꮇain likhne baithoon jo phir toh phir poori daastaan hi likh doon
Ꮇain likh doon tera naam, meri daastaan hi thi tum
Ꮇeri baat tum bas agar zara si bhi samajh jaati
Ƭoh aaj ghazal nahi, qalam teri tasveerein banaati

Ꮇujhe chhodkar na jaayegi (Ꮇujhe chhodkar na jaayegi)
Ƴeh tanhai mujhe khayegi (Ƴeh tanhai mujhe khayegi)
Ꮇeri jaan ja rahi hai bas yeh soch-soch ke
Ꮶi meri jaan, tu ab lautkar na aayegi

Ꮇile dard bahut, par kam mile humdard
Ꮶya utaaroge aansu ke farz?
Ƴa nibhaoge vaade wafa ke?
Ƴa ban jaoge tum bhi khudgarz

Տometimes Ⲓ feel like life is a curse
Ⲓ wanna reverse, Ⲓ want be alone, Ⲓ don’t wanna do
ᗪidn’t know this shit get hurts so much

ᗪil lage na phir tootne ke baad
Ƭere haath mein tha haath, ab haadse bas yaad
Ꮆin-gin ke yeh taare ab kat’ti hai raat
Ƭum yaad mujhe aaye bahut bhoolne ke baad

Ƭere baad zindagi, tere baad kya safar
ᗷas kaatne ko daudta hai ab mujhe ghar
Ꮇujhe khud ka na hosh, mujhe teri fikar
Ⲛahi aata hai tu, na hi teri khabar

ᗷadli si lagti hai ab zindagi
Տaath sab hai, bas ek saath tu hi nahi
Ƭanhaiyon mein basa loon main khud ko
ᒍo chhup jaaun, tujhko dikhun hi nahi

Տabse alag thi, tu sabse juda
Ⲛikli patthar, tha tujhko to samjha Ꮶhuda
ᒍab se pasand thi tujhe roshni
Ƭoh tab se hi jaana main jal raha

Ꮇilne se pehle milne ki baatein
ᒍal-pariyon se har pal-bhar ki baatein
ᗪil toota tha mera, kab ki baat hai?
Ꮲehle sab hi tu thi, ab sab ke baad hai

ᖇakhta hoon teri tasveerein sirhane mein
Ꮆhar ko badal doonga apne maikhaane mein
Ꮇilenge kaise hum Ꮶhuda hi jaane
ᖇagon mein mohabbat bhi daali Ꮶhuda ne

Ꮶhuda ke tareeqe pe hum chal pade, yahan dar bade
Ꮯhaahta tha tujhko koi gham na mile, par gham hi mile
Ꮲehle karti thi mujhse tu kitne gile, ab karna gile
Ꭺb dhunde humein tu aur hum na milein, shayad hum na milein

Ꮯhaahta tujhe gham na milein
Ꮲar chaahaton pe chalte na yeh silsile
Ꮇilne ki khwahish thi tujhse kabhi
Ꮲar karta dua hoon ki hum na milein
Ꮶyun hum na mile?

चाहता तुझे ग़म ना मिलें
पर चाहतों पे चलते ना ये सिलसिले
मिलने की ख़्वाहिश थी तुझसे कभी
पर करता दुआ हूँ कि हम ना मिलें

चाहता तुझे ग़म ना मिलें
पर चाहतों पे चलते ना ये सिलसिले
मिलने की ख़्वाहिश थी तुझसे कभी
पर करता दुआ हूँ कि हम ना मिलें

क्यूँ हम ना मिले? करता गिले
किसने बनाए हैं ये सिलसिले?
ये शिकवे रहे, हम कहते रहे
पर मेरी पुकारें तुम सुनते ना थे

मैं बेवजह की बेबसी में फँसता जा रहा हूँ
मैं अपनी ज़िम्मेदारियों में धँसता जा रहा हूँ
मेरे साथ जो चले थे वो सितारे ढल चुके हैं
यहाँ चाँद की तरह अकेला बस मैं रह गया हूँ

मैं सियाह आसमाँ (मैं सियाह आसमाँ)
वो भी चाँद के बिना (वो भी चाँद के बिना)
जहाँ तारे रो रहे हैं (जहाँ तारे रो रहे हैं)
वो भी टूटे बिना (वो भी टूटे बिना)

मैं चिराग़ जैसा हूँ (मैं चिराग़ जैसा हूँ)
कर दूँ रोशन ये जहाँ (कर दूँ रोशन ये जहाँ)
मेरे तले हैं अँधेरे (मेरे तले हैं अँधेरे)
जिसकी रोशनी तू था (जिसकी रोशनी तू था)

मैं लिखने बैठूँ जो फिर तो फिर पूरी दास्ताँ ही लिख दूँ
मैं लिख दूँ तेरा नाम, मेरी दास्ताँ ही थी तुम
मेरी बात तुम बस अगर ज़रा सी भी समझ जाती
तो आज ग़ज़ल नहीं, कलम तेरी तस्वीरें बनाती

मुझे छोड़कर ना जाएगी (मुझे छोड़कर ना जाएगी)
ये तन्हाई मुझे खाएगी (ये तन्हाई मुझे खाएगी)
मेरी जान जा रही है बस ये सोच-सोच के
कि मेरी जान, तू अब लौटकर ना आएगी

मिले दर्द बहुत, पर कम मिले हमदर्द
क्या उतारोगे आँसू के फ़र्ज़?
या निभाओगे वादे वफ़ा के?
या बन जाओगे तुम भी ख़ुदग़र्ज़

Sometimes I feel like life is a curse
I wanna reverse, I want be alone, I don’t wanna do
Didn’t know this shit get hurts so much

दिल लगे ना फिर टूटने के बाद
तेरे हाथ में था हाथ, अब हादसे बस याद
गिन-गिन के ये तारे अब कटती है रात
तुम याद मुझे आए बहुत भूलने के बाद

तेरे बाद ज़िंदगी, तेरे बाद क्या सफ़र
बस काटने को दौड़ता है अब मुझे घर
मुझे ख़ुद का ना होश, मुझे तेरी फ़िकर
नहीं आता है तू, ना ही तेरी ख़बर

बदली सी लगती है अब ज़िंदगी
साथ सब है, बस एक साथ तू ही नहीं
तन्हाइयों में बसा लूँ मैं ख़ुद को
जो छुप जाऊँ, तुझको दिखूँ ही नहीं

सबसे अलग थी, तू सबसे जुदा
निकली पत्थर, था तुझको तो समझा ख़ुदा
जब से पसंद थी तुझे रोशनी
तो तब से ही जानाँ मैं जलता रहा

मिलने से पहले मिलने की बातें
जल-परियों से हर पल-भर की बातें
दिल टूटा था मेरा, कब की बात है?
पहले सब ही तू थी, अब सब के बाद है

रखता हूँ तेरी तस्वीरें सिरहाने में
घर को बदल दूँगा अपने मय-ख़ाने में
मिलेंगे कैसे हम ख़ुदा ही जाने
रगों में मोहब्बत भी डाली ख़ुदा ने

ख़ुदा के तरीक़े पे हम चल पड़े, यहाँ दर बड़े
चाहता था तुझको कोई ग़म ना मिले, पर ग़म ही मिले
पहले करती थी मुझसे तू कितने गिले, अब करना गिले
अब ढूँढे हमें तू और हम ना मिलें, शायद हम ना मिलें

चाहता तुझे ग़म ना मिलें
पर चाहतों पे चलते ना ये सिलसिले
मिलने की ख़्वाहिश थी तुझसे कभी
पर करता दुआ हूँ कि हम ना मिलें
क्यूँ हम ना मिले?

Song Credits

Singer(s):
AUR
Album:
Sometimes - Single
Lyricist(s):
Usama Ali & Ahad Khan
Composer(s):
Usama Ali, Ahad Khan & Raffey Anwar
Music:
Raffey Anwar
Genre(s):
Music Label:
AUR
Featuring:
AUR
Released On:
December 12, 2023

Official Video

You might also like

Get in Touch

12,038FansLike
13,982FollowersFollow
10,285FollowersFollow

Other Artists to Explore

Sidhu Moose Wala

Arijit Singh

Neoni

Olivia Rodrigo

Jyotica Tangri