Friday, February 23, 2024

Ram Darshan

Ram Darshan Lyrics

Ram Darshan (राम दर्शन) is a Hindi song by Narci. The song is penned, composed, performed, and produced by Narci. Narci’s Ram Darshan lyrics in Hindi and in English are provided below.

Listen to the complete track on Spotify

Romanized Script
Native Script

Pata nahi kis roop mein aakar Narayan mil jaayega
Nirmal mann ke darpan mein vah Ram ke darshan paayega
Pata nahi kis roop mein aakar Narayan mil jaayega
Nirmal mann ke darpan mein vah Ram ke darshan paayega

Saans ruki tere darshan ko, na duniya mein mera lagta mann
Shabri ban ke baitha hoon, mera Shri Ram mein atka mann
Bekaraar mere dil ko main kitna bhi samjha loon
Ram daras ke baad dil chhodega yeh dhadkan

Kaale yug ka praani hoon, par jeeta hoon main treta yug
Karta hoon mehsoos palon ko, maana na woh dekha yug
Dega yug kali ka yeh paapon ke uphaar kai
Chhand mera par gaane ka har praani ko dega sukh

Hari katha ka vakta hoon main, Ram bhajan ki aadat
Ram abhaari shayar, mil jo rahi hai daawat
Hari katha suna ke main chhod tumhein kal jaunga
Baad mere na girne dena hari katha viraasat

Paane ko deedaar Prabhu ke nain bade yeh tarase hain
Jaane sake na koi vedna, raaton ko yeh barse hain
Kise pata, kis mauke pe, kis bhoomi pe, kis kone mein
Mele mein ya veerane mein Shri Hari humein darshan dein

Pata nahi kis roop mein aakar Narayan mil jaayega
Nirmal mann ke darpan mein vah Ram ke darshan paayega
Pata nahi kis roop mein aakar Narayan mil jaayega
Nirmal mann ke darpan mein vah Ram ke darshan paayega

Pata nahin kis roop mein aakar…
Pata nahin kis roop mein aakar…
Pata nahin kis roop mein aakar…
Pata nahin kis roop mein aakar…

Intezaar mein baitha hoon, kab beetega yeh kaala yug
Beetegi yeh peeda aur bhaari dil ke saare dukh
Milne ko hoon beqaraar, par paapon ka main bhaagi bhi
Nazarein meri aage tere, Shree Hari, jaayegi jhuk

Ram naam se jude hain aise, khud se bhi na mil paayein
Koi na jaane kis chehre mein Ram humein kal mil jaayein
Waise to mere dil mein ho, par aankhein pyaasi darshan ki
Shaam-savere, saare mausam Ram geet hi dil gaaye

Raghuvir, yeh vinati hai, tum door karo andheron ko
Door karo pareshani ke saare bhooke sheron ko
Shabri ban ke baitha, par kaale yug ka praani hun
Main jootha bhi na kar paaunga paapi munh se beron ko

Ban chuka bairagi, dil naam tera hi leta hai
Shayar apni saansein yeh Ram-Siya ko deta hai
Aur nahi icchayein ab jeene ki meri, Ram, yahan
Baad mujhe meri maut ke bas le jana tum Treta mein

Ram ke charitra mein sabko apne ghar ka
Apne kashthon ka ek jawaab milta hai

Pata nahi kis roop mein aakar Narayan mil jaayega
Nirmal mann ke darpan mein vah Ram ke darshan paayega
Pata nahi kis roop mein aakar Narayan mil jaayega
Nirmal mann ke darpan mein vah Ram ke darshan paayega

Pata nahi kis roop mein aakar Narayan mil jaayega
Nirmal mann ke darpan mein vah Ram ke darshan paayega
Pata nahi kis roop mein aakar Narayan mil jaayega
Nirmal mann ke darpan mein vah Ram ke darshan paayega

Ban chuka bairagi, dil naam tera hi leta hai
Shayar apni saansein yeh Ram-Siya ko deta hai
Aur nahi ichchaayein ab jeene ki meri, Ram, yahan
Baad mujhe meri maut ke bas le jaana tum Treta mein

Pata nahi kis roop mein aakar…

पता नहीं किस रूप में आकर नारायण मिल जाएगा
निर्मल मन के दर्पण में वह राम के दर्शन पाएगा
पता नहीं किस रूप में आकर नारायण मिल जाएगा
निर्मल मन के दर्पण में वह राम के दर्शन पाएगा
पता नहीं किस रूप में आकर नारायण मिल जाएगा
निर्मल मन के दर्पण में वह राम के दर्शन पाएगा

साँस रुकी तेरे दर्शन को, ना दुनिया में मेरा लगता मन
शबरी बन के बैठा हूँ, मेरा श्री राम में अटका मन
बेक़रार मेरे दिल को मैं कितना भी समझा लूँ
राम दरस के बाद दिल छोड़ेगा ये धड़कन

काले युग का प्राणी हूँ, पर जीता हूँ मैं त्रेता युग
करता हूँ महसूस पलों को, माना ना वो देखा युग
देगा युग कली का ये पापों के उपहार कई
छंद मेरा पर गाने का हर प्राणी को देगा सुख

हरि कथा का वक्ता हूँ मैं, राम भजन की आदत
राम आभारी शायर, मिल जो रही है दावत
हरि कथा सुना के मैं छोड़ तुम्हें कल जाऊँगा
बाद मेरे ना गिरने देना हरि कथा विरासत

पाने को दीदार प्रभु के नैन बड़े ये तरसे हैं
जान सके ना कोई वेदना, रातों को ये बरसे हैं
किसे पता, किस मौक़े पे, किस भूमि पे, किस कोने में
मेले में या वीराने में श्री हरि हमें दर्शन दें

पता नहीं किस रूप में आकर नारायण मिल जाएगा
निर्मल मन के दर्पण में वह राम के दर्शन पाएगा
पता नहीं किस रूप में आकर नारायण मिल जाएगा
निर्मल मन के दर्पण में वह राम के दर्शन पाएगा

पता नहीं किस रूप में आकर…
पता नहीं किस रूप में आकर…
पता नहीं किस रूप में आकर…
पता नहीं किस रूप में आकर…

इंतज़ार में बैठा हूँ, कब बीतेगा ये काला युग
बीतेगी ये पीड़ा और भारी दिल के सारे दुख
मिलने को हूँ बेक़रार पर पापों का मैं भागी भी
नज़रें मेरी आगे तेरे, श्री हरि, जाएगी झुक

राम नाम से जुड़े हैं ऐसे, खुद से भी ना मिल पाए
कोई ना जाने किस चेहरे में राम हमें कल मिल जाएँ
वैसे तो मेरे दिल में हो पर आँखें प्यासी दर्शन की
शाम-सवेरे, सारे मौसम राम गीत ही दिल गाए

रघुवीर, ये विनती है, तुम दूर करो अँधेरों को
दूर करो परेशानी के सारे भूखे शेरों को
शबरी बन के बैठा, पर काले युग का प्राणी हूँ
मैं जूठा भी ना कर पाऊँगा पापी मुँह से बेरों को

बन चुका बैरागी, दिल नाम तेरा ही लेता है
शायर अपनी साँसें ये राम-सिया को देता है
और नहीं इच्छाएँ अब जीने की मेरी, राम, यहाँ
बाद मुझे मेरी मौत के बस ले जाना तुम त्रेता में

राम के चरित्र में सबको अपने घर का
अपने कष्टों का एक जवाब मिलता है

पता नहीं किस रूप में आकर नारायण मिल जाएगा
निर्मल मन के दर्पण में वह राम के दर्शन पाएगा
पता नहीं किस रूप में आकर नारायण मिल जाएगा
निर्मल मन के दर्पण में वह राम के दर्शन पाएगा

पता नहीं किस रूप में आकर नारायण मिल जाएगा
निर्मल मन के दर्पण में वह राम के दर्शन पाएगा
पता नहीं किस रूप में आकर नारायण मिल जाएगा
निर्मल मन के दर्पण में वह राम के दर्शन पाएगा

बन चुका बैरागी, दिल नाम तेरा ही लेता है
शायर अपनी साँसें ये राम-सिया को देता है
और नहीं इच्छाएँ अब जीने की मेरी, राम, यहाँ
बाद मुझे मेरी मौत के बस ले जाना तुम त्रेता में

बन चुका बैरागी, दिल नाम तेरा ही लेता है
शायर अपनी साँसें ये राम-सिया को देता है
और नहीं इच्छाएँ अब जीने की मेरी, राम, यहाँ
बाद मुझे मेरी मौत के बस ले जाना तुम त्रेता में

पता नहीं किस रूप में आकर…

Song Credits

Singer(s):
Narci
Album:
Ram Setu
Lyricist(s):
Narci
Composer(s):
Narci
Music:
Narci
Genre(s):
Music Label:
NARCI
Featuring:
Narci
Released On:
September 19, 2022

Official Video

You might also like

Get in Touch

12,038FansLike
13,982FollowersFollow
10,285FollowersFollow

Other Artists to Explore

Anumita Nadesan

Rahul Jain

Neha Bhasin

Becky G

Georgia