Select Page

Home Lyrics Yahan Koi Nahi
Yahan Koi Nahi

Yahan Koi Nahi

2,468 VIEWS
Yahan Koi Nahi Lyrics | Yahan Koi Nahi Lyrics in Hindi | Yahan Koi Nahi Lyrics in English | Yahan Koi Nahi Lyrics Punit Singh

Yahan Koi Nahi (यहाँ कोई नहीं) is a Hindi song by Punit Singh. The song is composed and penned by Punit Singh. Punit Singh’s Yahan Koi Nahi lyrics in Hindi and in English are provided below.

Listen to the complete track on Spotify

Yo

लोग करते हैं बातें, पर मुझसे बोलते नहीं
वो देखते हैं सब, पर मुझको देखते नहीं
मैं जाता हूँ जहाँ भी, कोई टोकता नहीं
वो गली का कुत्ता अब मुझ पर भौंकता नहीं

ना ही खेलता है कोई भी अब मेरे साथ
ना बुलाता है कोई, चाहे हो birthday और बारात
मैं apple को खाने से पहले काटता नहीं
और दिल की बातें किसी से अब बाँटता नहीं

यहाँ कोई नहीं, यहाँ कोई नहीं, यहाँ कोई भी नहीं
मैं शहर में हूँ और भीड़ भी है, पर कोई भी नहीं
यहाँ कोई नहीं, यहाँ कोई नहीं, यहाँ कोई भी नहीं
ना घर पर, ना garden, ना छत पर, कोई भी नहीं

मैं तो YouTube reactions देखता हूँ with अंजान चेहरे
क्योंकि लगता है कोई बैठा है just बगल मेरे
मैं तो Facebook भी use करता हूँ बस memes share करने
और पानी बोतल भरता हूँ ख़ाली कर फिर भरने

मैं प्यार के बारे में अब ज़्यादा सोचता नहीं
अब पहले जैसा ना रोता, सर नोंचता कभी
मैं क़िस्मत को पहले जैसा अब डाँटता नहीं
और दिल की बातें किसी से अब बाँटता नहीं

यहाँ कोई नहीं, यहाँ कोई नहीं, यहाँ कोई भी नहीं
मैं शहर में हूँ और भीड़ भी है, पर कोई भी नहीं
यहाँ कोई नहीं, यहाँ कोई नहीं, यहाँ कोई भी नहीं
ना घर पर, ना garden, ना छत पर, कोई भी नहीं

मैं तो morning shows में जाता हूँ बस अपने साथ
I know I am no sexy, but सुंदर हैं मेरे दाँत
मुझे बचपन से ही अँधेरे से था लगता डर
अब ये ही मेरे साथ में है बन के मेरा घर

वैसे तो ज़्यादा लोग मुझको जानते नहीं
मेरे अपने भी अपना अब मुझको मानते नहीं
मैं line को कभी बीच से काटता नहीं
और दिल की बातें किसी से अब बाँटता नहीं

यहाँ कोई नहीं, यहाँ कोई नहीं
यहाँ कोई नहीं, यहाँ कोई नहीं
यहाँ कोई नहीं, यहाँ कोई नहीं
यहाँ कोई नहीं, यहाँ कोई…

यहाँ कोई नहीं, यहाँ कोई नहीं
यहाँ कोई नहीं, यहाँ कोई नहीं
यहाँ कोई नहीं, यहाँ कोई नहीं
यहाँ कोई नहीं, यहाँ कोई…

बस मैं हूँ और ये दुनिया, जहाँ मुझको ना सुनता है कोई
ओ, बाबा तारे, तुम ही बोलो, कहाँ जाऊँ? मैं क्या करूँ अभी?
देखो-देखो तुम मुझे ना, बस भटकता रहा मैं बिन सभी
बस मैं हूँ और ये दुनिया, जहाँ मेरा कोई भी नहीं

लोग सपनों में उड़ते होंगे, पर मेरा है अलग
मैं गिरता रहता हूँ, पर नींचे गिरता नहीं
मैं apple को खाने से पहले काटता नहीं
और दिल की बातें किसी से अब बाँटता नहीं

Yo

Log karte hain baatein, par mujhse bolte nahi
Woh dekhte hain sab, par mujhko dekhte nahi
Main jaata hoon jahan bhi, koi tokta nahi
Woh gali ka kutta ab mujh par bhaunkta nahi

Na hi khelta hai koi bhi ab mere saath
Na bulaata hai koi, chaahe ho birthday aur baarat
Main apple ko khaane se pehle kaat’ta nahi
Aur dil ki baatein kisi se ab baant’ta nahi

Yahan koi nahi, yahan koi nahi, yahan koi bhi nahi
Main sheher mein hoon aur bheed bhi hai, par koi bhi nahi
Yahan koi nahi, yahan koi nahi, yahan koi bhi nahi
Na ghar par, na garden, na chhat par, koi bhi nahi

Main toh YouTube reactions dekhta hoon with anjaan chehre
Kyonki lagta hai koi baitha hai just bagal mere
Main toh Facebook bhi use karta hoon bas memes share karne
Aur paani botal bharta hoon khaali kar phir bharne

Main pyaar ke baare mein ab zyada sochta nahi
Ab pehle jaisa na rota, sir nochta kabhi
Main kismat ko pehle jaisa ab daant’ta nahi
Aur dil ki baatein kisi se ab baant’ta nahi

Yahan koi nahi, yahan koi nahi, yahan koi bhi nahi
Main sheher mein hoon aur bheed bhi hai, par koi bhi nahi
Yahan koi nahi, yahan koi nahi, yahan koi bhi nahi
Na ghar par, na garden, na chhat par, koi bhi nahi

Main toh morning shows mein jaata hoon bas apne saath
I know I am no sexy, but sundar hain mere daant
Mujhe bachpan se hi andhere se tha lagta dar
Ab yeh hi mere saath mein hai ban ke mera ghar

Waise toh zyada log mujhko jaante nahi
Mere apne bhi apna ab mujhko maante nahi
Main line ko kabhi beech se kaat’ta nahi
Aur dil ki baatein kisi se ab baant’ta nahi

Yahan koi nahi, yahan koi nahi
Yahan koi nahi, yahan koi nahi
Yahan koi nahi, yahan koi nahi
Yahan koi nahi, yahan koi…

Yahan koi nahi, yahan koi nahi
Yahan koi nahi, yahan koi nahi
Yahan koi nahi, yahan koi nahi
Yahan koi nahi, yahan koi…

Bas main hoon aur yeh duniya, jahan mujhko na sunta hai koi
Oh, baaba taare, tum hi bolo, kahan jaaun? Main kya karoon abhi?
Dekho-dekho tum mujhe na, bas bhatakta raha main bin sabhi
Bas main hoon aur yeh duniya, jahan mera koi bhi nahi

Log sapno mein udte honge, par mera hai alag
Main girta rehta hoon, par neeche girta nahi
Main apple ko khaane se pehle kaat’ta nahi
Aur dil ki baatein kisi se ab baant’ta nahi

Yahan Koi Nahi Song Details:

Album : Yahan Koi Nahi
Lyricist(s) : Punit Singh
Composers(s) : Punit Singh
Music Director(s) : Punit Singh
Genre(s) : Indian Pop
Music Label : Punit Singh
Starring : Punit Singh

Yahan Koi Nahi Song Video:

Popular Albums

ALL

Albums

Similar Artists

ALL

Singers
error: Content is protected !!